महाराष्ट्र हेडलाइन

🔷 चीन झूठ बोलरहा है 🔷 🔶 कोरोना वायरस प्राकृतिक नहीं है 🔶 🟣 जापान के वैज्ञानिक प्रोफेसर तासुकू होन्जो का दावा 🟣 🟡 यदी मेरी बाते झूठ निकली तो सरकार मेरा नोबेल पुरस्कार वापस ले सकती है । 🟡

Summary

वर्धा, जिल्हा प्रतिनिधी :- चिकित्सा के क्षेत्र मे नोबेल पुरस्कार जितने वाले जापानके वैज्ञानिक प्रोफेसर डॉ. तासुकू होन्जो ने दावा किया है की कोरोना वायरस प्राकृतिक नहीं है। उन्होंने खा है की यदी प्राकृतिक होता तो पुरी दुनिया में यह […]

वर्धा, जिल्हा प्रतिनिधी :-

चिकित्सा के क्षेत्र मे नोबेल पुरस्कार जितने वाले जापानके वैज्ञानिक प्रोफेसर डॉ. तासुकू होन्जो ने दावा किया है की कोरोना वायरस प्राकृतिक नहीं है।
उन्होंने खा है की यदी प्राकृतिक होता तो पुरी दुनिया में यह यू ही तबाही नहीं मचाता क्योकी विश्वके हर देश मे अलग अलग तापमान होता है। यदी यह कोरोना वायरस प्राकृतिक होता तो चीन जैसे अन्य देश ,जहा चीन जैसाही तापमान है या वातावरण है वही दंबगाई मचाता । यह जिस तरह स्वीजरलँड जैसे थंडे देश मे फैल रहा है , उसी तरह रेगिस्तान इ लांको मे भी फैल रहा है । यदी यह प्राकृतिक होता और थंडे स्थंलो पर फैलता तो गर्म स्थानोपर जाकर दम तोड देता।
मैने अनेक जीव-जंतु और व्हायरस पर 40 सालतक रीसर्च की है। मैं दावेके साथ कह सकता हूं कि यह वायरस प्राकृतिक नहीं है । यह वायरस बनाया गया है । और पुरी तरह से आर्टिफिशल है । चीन की मुंह लॅबोरेटरी मे मैने 4 साल काम किया है। ऊस लॅबोरेटरी के सारे स्टाफ से मैं पुरी तरह परिचित हूं।
कोरोना हादसे के बाद से मै सबको फोन लगा रहा हूं परंतु सभी मेम्बर्स के फोन 3 महिने से बंद आ रहे है। अब पता चला की सारे लॅब टेकनिशीयन की मौत हो।चुकी है। चीन झूठ बोल रहा है।
मेरी बात सत्य होणगी, यदी गलत हुई तो सरकार मेरा नोबेल पुरस्कार वापस ले सकती है । मै आज तक की अपनी सारी जाणकारियो और रिसर्च के आधार पर यह 100 % प्रतिशत दावे के साथ कह सकता हूं कि कोरोना प्राकृतिक नहीं है और यह चमगादड से नहीं फैला है। यह चीन ने बनाया है। जो मै आज बोल रहा हूं यदी यह बा त आज या मेरे मरनेके के बाद भी झूठ निकली तो मेरा नोबेल पुरस्कार सरकार वापस ले सकती है, परंतु एक बार मै फिर कह रहा हूं की चीन झूठ बोल रहा है और यह सच्चाई एक दिन सामने आएगी।

♦️पोलीस योद्धा वृत्त सेवा♦️
♦️महेश देवशोध ( राठोड)♦️
♦️ वर्धा, जिल्हा प्रतिनिधी ♦️
♦️7378703472 ♦️

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *